October 16, 2021

GDT LIVE

सच का साथी

वाराणसी:- 40 साल बाद गांधी परिवार को जगा धार्मिक भाव देवी कूष्मांडा के मंदिर में प्रियंका वाड्रा टेकेंगी मत्था

1 min read

वाराणसी। किसान न्याय रैली को संबोधित करने वाराणसी आ रहीं प्रियंका गांधी वाड्रा आज श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के बाद दुर्गाकुंड स्थित देवी कूष्मांडा के मंदिर में दर्शन-पूजन करेंगी। इस मंदिर में नेहरू-गांधी परिवार से तकरीबन चार दशक पहले 1977 में लोकसभा चुनाव हारने के बाद पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी दर्शन-पूजन के लिए आई थी। इससे पहले और बाद में बतौर प्रधानमंत्री भी उन्होंने दुर्गाकुंड स्थित मंदिर में हाजिरी लगाई थी। शहर के पुरनिये कांग्रेसी बताते हैं कि धर्म-कर्म के प्रति इंदिरा की बहुत रुचि थी। काशी और प्रयागराज आने पर मंदिरों में जानें के लिए उन्हें किसी विशेष प्रोटोकॉल की जरूरत नहीं पड़ती थी।

पुरनिये कांग्रेसियों ने इस बात की खुशी जताई कि प्रियंका काशी आ रही हैं तो अपनी दादी की परंपरा का निर्वहन करते हुए नवरात्रि के चौथे दिन मान्यता के अनुसार देवी कूष्मांडा के मंदिर में दर्शन-पूजन करने जा रही हैं।

दुर्गाकुंड स्थित मंदिर में विराजमान देवी कूष्मांडा।

दुर्गाकुंड स्थित मंदिर में विराजमान देवी कूष्मांडा।

हजारों साल पुराना है दुर्गाकुंड का मंदिर

दुर्गाकुंड स्थित देवी कूष्मांडा के मंदिर का निर्माण हजारों साल पहले काशी के राजा सुदर्शन ने कराया था। इस मंदिर से जुड़ी कथा का जिक्र देवी भागवत के 23वें अध्याय में है। पौराणिक कथाओं के अनुसार काशी राजा सुदर्शन के पक्ष में एक बार देवी कूष्मांडा ने स्वयं शेर पर सवार होकर युद्ध किया था। इसके बाद राजा सुदर्शन ने उनसे काशी में विराजमान होने की प्रार्थना की थी। देवी ने राजा सुदर्शन की विनती स्वीकार ली और फिर मंदिर की स्थापना हुई। रानी भवानी ने 17वीं सदी में इस मंदिर का जीर्णोद्धार कराया था।

22 सितंबर 2017 को आए थे प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 सितंबर 2017 की शाम दुर्गाकुंड स्थित देवी कूष्मांडा के मंदिर में दर्शन-पूजन किया था। उस दिन नवरात्रि की द्वितीया थी। प्रधानमंत्री ने तब ऐंद्र योग में चौबीस मिनट तक मंदिर में थे। देवी कूष्मांडा को उन्होंने 1 हजार गुड़हल के फूलों की माला अर्पित कर राष्ट्र की खुशहाली और कल्याण के लिए सविधि आराधना की थी। उधर दुर्गाकुंड स्थित मंदिर के महंत परिवार के सदस्यों ने बताया कि कांग्रेसियों से प्रियंका गांधी के आने की सूचना मिली है। सभी देवी भक्तों की तरह मां के दरबार में उनका भी स्वागत है। वह आएं और मां का दर्शन-पूजन कर उनका आशीर्वाद प्राप्त करें। हम उनके लिए मंगलकामना करेंगे और मां से प्रार्थना करेंगे कि सभी भक्तों की तरह उनकी भी मनोकामना पूर्ण हों।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.