अयोध्या। रामनगरी अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम में हिस्सा लेने शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल एक साथ पहुंचेंगे। शुक्रवार को शाम होते ही श्रीराम जन्मभूमि परिसर समेत पूरी रामनगरी दीयों की रोशनी जगमगा हो उठेगी। इसी तैयारी की कड़ी में क्षीरेश्वरनाथ मंदिर के सामने जन्मभूमि के मुख्य द्वार को पूरे भव्यता के साथ सजाया जाएगा। दिव्य दीपोत्सव की शुरुआत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रामलला के सम्मुख घी का दीपक जलाकर करेंगे। वह रामलला का पूजन-अर्चन भी करेंगे। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज होने के लिए तैयार दीपोत्सव में प्रज्ज्वलित होने वाले दीपों की गणना के लिए गिनीज बुक की टीम गुरुवार को देर शाम रामनगरी पहुंच गई है।

मिनट टू मिनट कार्यक्रम के अनुसार, रामकथा पार्क के सामने स्थित हेलीपैड पर राजकीय हेलीकाप्टर से मुख्यमंत्री दोपहर बाद 3:05 बजे उतरेंगे। 3:10 बजे वह कार से रामजन्मभूमि पहुंचेंगे। 10 मिनट का समय दर्शन-पूजन के लिए है। दर्शन-पूजन के साथ वे रामलला के सम्मुख दीप भी जलाएंगे। इसके बाद वह रामकथा पार्क के लिए कार से रवाना होंगे। 3:30 बजे मुख्यमंत्री रामकथा पार्क के सामने हेलीपैड पर पुष्पक विमान के रूप में हेलीकाप्टर से उतरने वाले श्रीराम और उनके परिकर के अन्य स्वरूपों की अगवानी करेंगे। 3:50 बजे मुख्यमंत्री रामकथा पार्क के मंच पर मौजूद रहेंगे।

तब से लेकर सायं 5.30 बजे तक मुख्यमंत्री का समय श्रीराम के स्वरूप का राज्याभिषेक, दीपोत्सव पर विशेष कवर का अनावरण एवं संबोधन के लिए आरक्षित है। इसके बाद वे राम की पैड़ी के लिए प्रस्थान करेंगे। नयाघाट पर आयोजित सरयू आरती में छह बजे तक मौजूद रहेंगे। सायं 6:05 बजे मुख्यमंत्री राम की पैड़ी पर एक साथ जलते 5.51 लाख दीपों, सांस्कृतिक कार्यक्रम व वर्चुअल आतिशबाजी का अवलोकन करेंगे। सायं 7:20 बजे वह वापस रामकथा पार्क पहुंचेंगे और वहां आयोजित रामलीला देखेंगे। आठ बजे सर्किट हाउस के लिए रवाना होंगे। मुख्यमंत्री का रात्रि विश्राम सर्किट हाउस में है, जबकि राज्यपाल उत्सव में शामिल होने के बाद शुक्रवार को ही कार से लखनऊ लौट जाएंगी।

रामजन्मभूमि पर 492 वर्ष बाद मनेगी भव्य दीवाली : राममंदिर के पक्ष में सुप्रीम फैसला आने के बाद 492 वर्ष बाद रामजन्मभूमि परिसर में पहली दीपावली भव्य तरीके से मनाई जाएगी। यहां 15 हजार दीये प्रज्ज्वलित किए जाएंगे। ये दीये गोबर व मिट्टी से निर्मित होंगे। परिसर के साथ रामलला के गर्भगृह को फूलों से सजाया गया है। जगह-जगह सजी रंगोली अवधी संस्कृति को बयां कर रही है। गुरुवार को प्रभारी मंत्री नीलकंठ तिवारी ने महापौर रिषिकेश उपाध्याय, विधायक वेदप्रकाश गुप्त, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, महानगर अध्यक्ष अभिषेक मिश्र के साथ दीपोत्सव स्थल रामकी पैड़ी पहुंचे, जहां उन्होंने तैयारियों का जायजा लिया। इस बीच स्वयंसेवकों का उत्साह बढ़ाया। उन्होंने अधिकारियों को भव्य आयोजन से संबंधित दिशा निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *