लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण से एक महीने के दौरान 2,286 मरीजों की जान गई है। इससे पहले मार्च से लेकर तीन सितंबर तक इस वायरस ने 3,691 लोगों की जान ली थी। यानी अब तक हुई कुल 5,977 में से 38 फीसद की मौत पिछले महीने भर में हुई है। हालांकि प्रदेश में कुल मृत्यु दर 1.4 प्रतिशत ही है। स्वास्थ्य विभाग अब इसे एक प्रतिशत के नीचे लाने की कोशिश कर रहा है। वहीं, शनिवार को राज्य में 1.53 लाख लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया, जिसमें 2.3 फीसद यानी 3,665 लोग संक्रमित पाए गए। इसी के साथ कोरोना की चपेट में आने वालों की कुल संख्या अब 4.10 लाख हो गई है। इसमें 3.56 लाख लोग स्वस्थ हो चुके हैं। रिकवरी रेट भी बढ़कर 86.89 प्रतिशत पहुंच गया है।

किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष प्रो.सूर्यकांत कहते हैं कि अब ठंड धीरे-धीरे बढ़ेगी, ऐसे में सर्तकता बरतें। ठंड में कोहरे के कारण वाहनों इत्यादि से निकलने वाला धुआं एक निश्चित स्तर से ऊपर नहीं जा पाता। सांस लेने पर आरएसपीएम कण सांस नली में पहुंचकर सूजन पैदा कर देते हैं। इससे सांस लेने में दिक्कत होती है। ठंड में छोटे वायरस और बैक्टीरिया ज्यादा सक्रिय रहते हैं। ऐसे में जिन इलाकों में प्रदूषण ज्यादा है, वहां लोग विशेष सावधानी बरतें। कोरोना के कारण अधिक सर्तक रहना जरूरी है। लोग मास्क जरूर लगाएं और पानी उबालकर भांप लें। 

1.53 लाख टेस्ट में सिर्फ 3,665 कोरोना पॉजिटिव : उत्तर प्रदेश में शनिवार को 1.53 लाख लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया, जिसमें 2.3 फीसद यानी 3,665 लोग संक्रमित पाए गए। इसी के साथ कोरोना की चपेट में आने वालों की कुल संख्या अब 4.10 लाख हो गई है। इसमें 3.56 लाख लोग स्वस्थ हो चुके हैं। रिकवरी रेट भी बढ़कर 86.89 प्रतिशत पहुंच गया है। उत्तर प्रदेश में एक्टिव केस घटकर अब 47,823 हो गए हैं। इन मरीजों में से 22,329 लोग होम आइसोलेशन में हैं, जबकि 3,604 रोगी प्राइवेट अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं। बीते करीब 16 दिनों में 20,412 मरीज घटे हैं। फिलहाल रिकवरी रेट बढ़ने से मरीजों की संख्या में तेजी से गिरावट हो रही है। अब तक 3.98 लाख मेडिकल टीम द्वारा अब तक 12.85 करोड़ लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग की जा चुकी है। प्रदेश में अब तक 1.05 करोड़ लोगों की कोरोना जांच कराई जा चुकी है। देश में सर्वाधिक कोरोना टेस्ट यूपी में ही हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *