दिल्ली। रामलीला के जरिए पूरी दुनिया को प्रभु राम संदेश देने के लिए फिल्मी कलाकार रामायण के पात्रों की भूमिका निभाएंगे। इस रामलीला का मंचन शारदीय नवरात्र के अवसर पर 17 अक्तूबर से अयोध्या में ही होगा। कोविड-19 की गाइड लाइन व अधिकतम सौ से अधिक लोगों की अनुमति न होने के कारण इस मंचन आम जनता नहीं देख पाएगी। फिर भी इस रामलीला को सैटेलाइट चैनलों के अतिरिक्त सोशल मीडिया व यू-ट्यूब पर देखा जा सकेगा।

इस रामलीला मंचन का आयोजन ‘अयोध्या की रामलीला’ नामक दिल्ली की संस्था कर रही है। इस संस्था के अध्यक्ष व मंचन कार्यक्रम के प्रोड्यूसर सतीश मलिक का कहना है कि वह लंबे से अयोध्या में ही रामलीला करना चाह रहे थे लेकिन आयोजन का अवसर अब मिल सका है। अयोध्या में आयोजन का अवसर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की वजह से मिल सका है। वह बताते हंै कि उन्हें बीते दस सालों से फिल्मी कलाकारों की रामलीला का अनुभव है। दिल्ली व मुम्बई में पहले से ही वह फिल्मी कलाकारों के जरिए रामलीला का मंचन करा चुके हैं। उन्होंने जानकारी दी कि इस आयोजन के लिए तैयारियां की जा रही हैं। रामलीला मंचन लक्ष्मण किला में किया जाएगा।

इस सम्बन्ध में लक्ष्मण किलाधीश महंत मैथिली रमण शरण सहित जिला प्रशासन से वार्ता हो चुकी है। उन्होंने बताया कि यह मंचन 17 अक्तूबर से शुरू होकर 25 अक्तूबर तक चलेगा। इस आयोजन के लिए स्टेज का निर्माण एक अक्तूबर से शुरू होगा और निर्माण कार्य के लिए सभी टेक्नीशियन मुम्बई से ही आएंगे। उन्होंने बताया कि इस आयोजन के लिए डिजिटल स्तर पर काफी काम किया जा रहा है। उन्होंने दावा किया कि इस लाइव प्रसारण को देखकर हर कोई रोमांचित होगा।

अलग-अलग पात्र का अभिनय करेंगे अलग-अलग अभिनेता
 

हास्य कलाकार असरानी-नारद

भोजपुरी कलाकार रवि किशन-भरत

सांसद व गायक मनोज तिवारी- अंगद

रजा मुराद-अहिरावण

शाहबाज खान-रावण
बिंदु दारासिंह- हनुमान
राकेश बेदी-निषादराज
रितु शिवपुरी-कैकेई  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *