देश के लिए नहीं की जान की परवाह, ऐसा व्यक्ति आतंकी कैसे हो सकता है- अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आतंकवादी वाले बयान को लेकर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि मैं डायबीटिक हूं और एक दिन में चार बार इंसुलिन लेता हूं। अगर कोई व्यक्ति डायबीटिक है और इंसुलिन पर जी रहा है और 3-4 घंटे तक खाना तक नहीं खाता है तो उसके बेहोश होने और मरने का खतरा रहता है। ऐसी स्थिति में मैंने भ्रष्टाचार के खिलाफ 15 और 10 दिन के अंतराल पर दो बार भूख हड़ताल की। उन्होंने आगे कहा कि डॉक्टरों ने मुझसे कहा था कि मैं 24 घंटे से ज्यादा जिंदा नहीं रह सकता है ऐसी स्थिति में भी मैंने अपनी जान को देश के लिए दरकिनार कर दिया। पिछले पांच सालों में इन लोगों ने मेरा शोषण करने का कोई मौका नहीं छोड़ा है, मेरे घर और ऑफिस पर छापेमारी की, मेरे खिलाफ केस दर्ज कराया। ऐसा व्यक्ति कैसे आतंकी हो सकता है।

बता दें कि भाजपा के पश्चिमी दिल्ली से सांसद प्रवेश वर्मा द्वारा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आतंकवादी कहने पर मंगलवार को आम आदमी पार्टी (आप) ने कड़ी निंदा की थी। उनके बयान को लेकर जहां मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को दुख जताया था। वहीं राज्य सभा सदस्य संजय सिंह ने नाराजगी जताते हुए तीखी प्रतिक्रिया दी थी और टिप्पणी को अभद्र बताया है। साथ ही कहा कि ऐसे लोग मानसिक रूप से बीमार हैं। इधर, बुधवार की शाम को आप ने दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) से प्रवेश वर्मा की शिकायत कर उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने की मांग की है। संजय सिंह ने कहा कि भाजपा नेता लगातार आप के नेताओं के बारे में अपशब्दों और अभद्र टिप्पणियों का उपयोग कर रहे हैं।

लेकिन, सांसद प्रवेश वर्मा ने ऐसे मुख्यमंत्री के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की है। जिन्होंने 70 साल के इतिहास में पहली बार अपने चुनावी वादों से भी अधिक विकास दिल्ली में करके दिखाया है। केजरीवाल ने शिक्षा व्यवस्था का कायाकल्प करने के लिए स्कूलों में 20 हजार नए क्लासरूम बनवाए। चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ बनाया, फरिश्ते योजना लागू करके दुर्घटनाग्रस्त लोगों की जान बचाने का काम किया। दिल्ली के बुजुर्गो के लिए तीर्थ स्थानों के लिए मुफ्त तीर्थ यात्र योजना की शुरुआत की। शहीद जवानों के परिवार के लिए एक करोड़ रुपये की सम्मान राशि योजना की शुरुआत की। किसान की फसल बर्बादी पर देश में सबसे अधिक 50 हजार प्रति हेक्टेयर के हिसाब से मुआवजा देने की शुरुआत की। ऐसे मुख्यमंत्री को प्रवेश वर्मा आतंकवादी बोल रहे हैं। वहीं मनोज तिवारी समर्थन कर रहे हैं।

आरोप है कि पश्चिमी दिल्ली में प्रवेश वर्मा ने एक बयान में कहा है कि जिस तरह से आतंकी और नक्सली देश की संपत्ति को क्षति पहुंचाते हैं। वही काम केजरीवाल भी कर रहे हैं। इससे पहले उन्होंने शाहीन बाग की तुलना पाकिस्तान से की थी। अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि पांच साल दिन रात मेहनत करके दिल्ली के लिए काम किया। दिल्ली के लोगों के लिए अपना सब कुछ त्याग दिया। राजनीति में आने के बाद बहुत कठिनाइयों का सामना किया, ताकि लोगों का जीवन बेहतर कर सकूं। बदले में आज मुझे भाजपा आतंकवादी कह रही है। यह सुनकर बहुत दुखी हूं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *