प्र‍ियंका पर उपमुख्‍यमंत्री द‍िनेश शर्मा का पलटवार : कहा-भगवा को बदनाम न करें, उपद्रवियों का साथ न दें

लखनऊ। कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी भगवा को बदनाम न करें और उपद्रवियों का साथ न दें। भगवा पर आरोप लगाना कांग्रेस की आदत है गांधी परिवार को पता ही नहीं भगवा क्या है? उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने लोक भवन में आयोजित पत्रकार वार्ता में मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की वेशभूषा को लेकर प्रियंका के बयान की भत्र्सना करते हुए कहा कि मीडिया में बने रहने के लिए ही प्रियंका नियम कानून ताख पर रखे हुए है। धारा-144 लगी होने बावजूद उन्होंने तमाशा किया। कांग्रेस पार्टी, भारत को सपेरों का देश दिखाती रही इसलिए देश के विकास को पचा नहीं पा रही।

उन्होंने कहा कि गांधी परिवार में जो संस्कार हैं उसमें भगवा का कहीं स्थान नहीं है इसलिए जानते नहीं कि भगवा कि क्या संस्कृति है? कांग्रेस को ऐसा आरोप लगाने की आदत बनी है। ऐसा कर प्रियंका ने ङ्क्षहदू धर्म का अपमान किया है।

सपा-कांग्रेस में तुष्टीकरण की होड़

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ग विशेष को लुभाने के लिए सपा-कांग्रेस के बीच तुष्टीकरण की होड़ मची है। प्रियंका व अखिलेश भगवा को गलत तरह से प्रस्तुत कर रहें हैं। सीएए व एनआरसी को लेकर जनता को सपा कांग्रेस द्वारा गुमराह किया जा रहा है। प्रधानमंत्री व गृहमंत्री स्पष्ट कर चुके है किकिसी नागरिक को नुकसान न होगा फिर भी बड़े कांग्रेसी नेता उपद्रवियों का साथ देकर क्या संदेश देना चाहते है? उन्होंने कहा कि कांगे्रस धर्मों की लड़ाई न प्रारंभ करे। अखिलेश लोगों को दिग्भ्रमित कर वोट बैंक तैयार करने का दिवास्वप्न न देखें।

निर्दोषों पर कार्रवाई के आरोपों पर कहा कि शांतिपूर्ण विरोध को लेकर सरकार को एतराज नहीं है। शांतिप्रिय माहौल बनाने की जिम्मेदारी विपक्ष की भी है। विपक्ष उत्तेजना पैदा करेगा तो सरकार न्यायालय के निर्देशों व संदर्भों का पालन करना पड़ेगा। सरकार की मंशा है कि एक भी निर्दोष पर कार्रवाई न हो लेकिन राज्य की संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले से वसूली भी की जाएगी।

न नौ मन तेल होगा न राधा नाचेगी

डा. शर्मा ने अखिलेश के उस बयान पर भी चुटकी ली, जिसमें कहा गया कि सपा शासन आने पर ङ्क्षहसक घटनाओं की जांच कराएंगे। उन्होंने कहा कि न नौ मन तेल होगा, न राधा नाचेगी। उन्होंने कहा कि तथ्यों के साथ ही कार्रवाई हो रही है। 


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *