हाईकोर्ट से दर्जा प्राप्‍त मंत्री अतुल सिंह को मिली जमानत, विधायक रामानंद की याचिका खारिज

गोरखपुर। अलग-अलग आपराधिक मामले में प्रयागराज उच्च न्यायालय ने गो सेवा आयोग के उपाध्यक्ष व कुशीनगर जिले के रामकोला के पूर्व विधायक अतुल सिंह को जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया है। वहीं दूसरी तरफ रामकोला के विधायक रामानंद बौद्ध की जमानत याचिका खारिज कर दी गई है।

देवरिया जेल में बंद है दोनो नेता

जिला एवं सत्र न्यायालय कुशीनगर में सुनवाई करते हुए अपर सत्र न्यायाधीश चतुर्थ व विशेष न्यायाधीश एमपी-एमएलए विवेकानंद शरण त्रिपाठी की अदालत ने रामकोला के विधायक रामानंद वौद्ध को 25 सितंबर को जेल भेजा था, तो इसी न्यायालय ने पूर्व विधायक अतुल सिंह को दोष सिद्ध करार देते हुए 24 अक्टूबर को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा था। इस समय दोनों नेता देवरिया जेल में बंद हैं।

अतुल सिंह का यह था मामला

उल्‍लेखनीय है कि 13 वर्ष पूर्व भीड़ को उकसाने व एक विशेष समुदाय के प्रति द्वेषपूर्ण भाषण देने का आरोप में विशेष न्यायाधीश ने गो-सेवा समिति के उपाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक अतुल सिंह को पांच वर्ष की सजाई सुनाई थी। घटना 25 नवंबर 2006 की है, जिसमें वादी मुकदमा मोहनमुंडेरा निवासी खैराती पुत्र तूफानी ने कप्तानगंज थाने में तहरीर देकर दूसरे समुदाय के प्रति द्वेषवश भाषण देने का आरोप लगाया था। इस मामले में पुलिस ने अतुल सिंह समेत 26 लोगों के खिलाफ विभिन्न अपराधिक मुकदमा दर्ज करते हुए मामले की विवेचना शुरू की थी। पूर्व विधायक अतुल सिंह के पुत्र विशाल सिंह ने बताया कि जमानत मिल गई है, कागज एक दो दिन में मिल जाएगा।

रामानंद बौद्ध पर यह है आरोप

जबकि जेल में बंद रामकोला के भासपा विधायक रामानंद बौद्ध कुशीनगर जमानत याचिका खारिज होने पर हाईकोर्ट की शरण में गए थे। आरोप है कि 17 अगस्त 2019 को अहिरौली बाजार थाने के गांव जगदीशपुर बरडीहा निवासी नवरंग सिंह 30 वर्ष की देवरिया जिला जेल में मौत होने की अफवाह फैला कर उन्होंने कुछ ग्रामीणों के साथ रोड जाम कर धरना दिया था। धरनारत लोग गांव के संतोष पांडेय की चौराहे व गांव में स्थित मकान में आग लगा दी थी और सामान लूट लिया था। संतोष की तहरीर पर विधायक बौद्ध समेत 78 नामजद तथा 50 अज्ञात के विरुद्ध पुलिस ने लूट, घर फूंकने समेत विभिन्न धाराओंं में मुकदमा कायम किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *