राजस्थान के होटल में अपने दोस्त के साथ मिली स्वामी चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली छात्रा

लखनऊ। अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे स्वामी चिन्मयानंद पर शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा को राजस्थान से बरामद कर लिया गया है। उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने छात्रा के बरामद होने की पुष्टि की है। शाहजहांपुर में स्वामी चिन्मयानंद के एसएस लॉ कॉलेज की छात्रा ने उनके ऊपर शोषण का आरोप लगाया था। इसके बाद से छात्रा गायब हो गई। आज कॉलेज प्रबंधन ने भी लड़की के राजस्थान मिलने की जानकारी दी। डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि छात्रा अपने दोस्त के साथ जयपुर के एक होटल में थी।

पुलिस ने लोकेशन मिलते ही छात्रा को लड़के के साथ ही बरामद कर लिया। दोस्त का नाम संजय सिंह है। वह शाहजहांपुर के सुखदेव कॉलेज में एलएलबी का छात्र है। दोस्त संजय लापता लड़की के साथ था। पुलिस शाम तक लड़की को लेकर शाहजहांपुर पहुंचेगी। पुलिस का दावा है कि जिस लड़की के पिता ने उसके अपहरण का आरोप चिन्मयानंद पर लगाया था, वह मिल गई है। प्रदेश पुलिस ने दावा किया है कि लड़की राजस्थान में मिली है, वह अपने दोस्त के साथ थी। पुलिस का यह कहना भी है कि दरअसल उसका अपहरण हुआ ही नहीं था।

 छात्रा जयपुर में अपने दोस्त संजय सिंह के साथ रह रही थी। छात्रा के साथ संजय को भी लाया जा रहा है। यूपी पुलिस के मुताबिक,  छात्रा लापता नहीं थी। दोनों को लखनऊ लाकर पूछताछ की जाएगी। शाहजहांपुर में चिन्मयानंद के एक महाविद्यालय से एलएलएम कर रही एक छात्रा ने सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल करके चिन्मयानंद पर जान से मारने की धमकी देने और खुद के बदहाली में जीने की बात बताते हुए सरकार से मदद मांगी थी। 24 अगस्त को फेसबुक पर अपलोड किए गए एक वीडियो में छात्रा ने चिन्मयानंद की तरफ इशारा करते हुए कहा था कि उनसे उसे और उसके परिवार को जान का खतरा है। इस मामले में छात्रा के पिता की तहरीर पर चिन्मयानंद के विरुद्ध अपहरण और जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा दर्ज किया गया है।

शाहजहांपुर में छात्रा के घर पहुंचे एसपी सिटी

एएसपी सिटी दिनेश त्रिपाठी छात्रा के घर पहुंचे। छात्रा के परिजनों को दी राजस्थान में बरामदगी की जानकारी। किस शहर में कब हुई बरामदगी इस बारे में नहीं दी कोई जानकारी। मीडिया को भी राजस्थान में बरामदगी की पुष्टि की।

शारीरिक शोषण का आरोप 

छात्रा ने शाहजहांपुर के एसएस लॉ कॉलेज में छात्राओं के शारीरिक शोषण का आरोप लगाया था। इसके बाद से वह गायब थी। छात्रा को यूपी पुलिस ने राजस्थान से बरामद कर लिया है। यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि हमारी टीम ने शाहजहांपुर से गायब छात्रा को राजस्थान से बरामद कर लिया है। डीजीपी के अनुसार लड़की के साथ उसका एक दोस्त भी मिला है। लड़की को यूपी लाने की तैयारी की जा रही है। छात्रा ने पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर प्रताडऩा का आरोप लगाया था और दावा किया था कि उसके पास इसके सबूत भी हैं। इसके बाद छात्रा गायब हो गई थी, जिस पर उसके पिता की तरफ से तहरीर दी गई।

इसके बाद स्वामी चिन्मयानंद पर अपहरण की एफआईआर भी दर्ज की गई। इस हाईप्रोफाइल मामले में यूपी की सियासत में भी खलबली मच गई। जिसके बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने लड़की को खोजने के लिए सात टीम तैयार की। सभी टीमें लड़की की तलाश में लग गईं। पुलिस ने पीडि़त लड़की के हॉस्टल का कमरा पुलिस ने सील कर दिया था। शाहजहांपुर शहर के कोतवाल प्रवेश सिंह ने बताया कि स्वामी शुकदेवानंद लॉ कॉलेज परिसर में बने छात्रावास में लड़की कमरा नंबर 105 में रहती थी, जिसे सील कर दिया गया ताकि सुबूतों के साथ छेड़छाड़ न की जा सके। इसके साथ ही बाहरी व्यक्ति के छात्रावास में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।

24 अगस्त को लड़की ने किया था कॉल

लड़की के पिता के मुताबिक 23 अगस्त को वीडियो वायरल होने के बाद पता लगाने पर छात्रावास में लड़की के कमरे में ताला लगा पाया गया था। उसके बाद 24 अगस्त को दिल्ली के अंजान मोबाइल नंबर से उनकी बेटी का फोन आया जिसमें उसने बताया कि वह ठीक है।

दिल्ली में ट्रैक हुई थी पीडि़ता की लोकेशन

बरेली जोन के अपर पुलिस महानिदेशक अविनाश चंद्र ने बताया कि आखिरी बार पीडि़ता का लोकेशन दिल्ली के द्वारका के होटल में 23 अगस्त को ट्रैक हुई थी। पुलिस की टीम के वहां पहुंचने से पहले ही लड़की वहां से जा चुकी थी। सीसीटीवी फुटेज में लड़की के साथ एक लड़का भी दिखाई दिया है।

चिन्मयानंद पर लड़की के अपहरण का आरोप

भारतीय जनता पार्टी के नेता और अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मंत्री रह चुके चिन्मयानंद पर शाहजहाँपुर की इस लड़की के अपहरण का आरोप था। लड़की के पिता ने बुधवार को पुलिस में शिकायत की थी और उसमें चिन्मयानंद का नाम लिया था। इसके पहले एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह लड़की चिन्मयानंद पर उसकी और दूसरी लड़कियों की जि़न्दगी बर्बाद करने का आरोप लगाती हुई दिखती है। इसके पहले चिन्मयानंद के आश्रम में रहने वाली एक साध्वी ने भी इस तरह का आरोप लगाया था। चिन्मयानंद ने उस लड़की के आरोप को सिरे से खारिज करते हुए कहा था कि यह योगी आदित्यनाथ सरकार को बदनाम करने की साजिश है।  




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *