पूर्व सैनिकों ने कहा, इस हमले को भूल न पाएगा पाकिस्तान

लखनऊ । एक पूर्व वायुसैनिक होने के नाते आज मेरा सीना फक्र से चौड़ा हो गया क्योंकि मैं जानता हूं कि ये ऑपरेशन इतना सरल नहीं था जिसे इतनी खूबसूरती और बहादुरी के साथ पूरा किया गया। इतना ही दुश्मन के इलाके में भारतीय हमले से खुश भूतपूर्व सैनिक इतने जोश से भरे हैं कि वे जरूरत पड़ने पर फिर से सेना में शामिल होकर युद्ध करने को तैयार हैं।

इस तरह का जज्बा केवल भूतपूर्व सैनिकों में ही नहीं एनसीसी में ट्रेनिंग प्राप्त करने के  युवाओं में भी मंगलवार को दिखाई दिया। हिन्दुस्तान ने ऐसे ही कुछ भूतपूर्व सैनिकों, विद्यालय के प्रधानाचार्य और एनसीसी कैडिटों से सेना की एयर स्ट्राइक पर त्वरित प्रतिक्रिया संवाद कार्यक्रम आयोजित कर ली। पेश है इस संवाद में ली गई प्रतिक्रिया के कुछ अंश…

ये हमारे देश के विरोधियों पर भी तमाचा है जो पूछ रहे थे ‘वेयर इस ता जोश और हॉओस द जैश’ तो मैं उनसे कहना चाहता हूं कि ‘जोश वॉस ऑलवेज हाई एण्ड जैश ही बस्टेड’। एयर स्ट्राइक ने हमारे शहीद जवानों को सच्ची श्रद्धांजलि दी है।
राजीव कुमार सिंह, जूनियर वारंट ऑफिसर
पूर्व वायु सैनिक

 
वायुसेना के एयर स्ट्राइक की मिसाल युद्ध के इतिहास में बेमिसाल है। भूतपूर्व सैनिक हमेशा सेना की मदद को तैयार है। हमकों देश के लिए लड़ने को तैयार हैं इसके लिए हम पीएमओ को भी पत्र भेज चुके हैं। 
सूबेदार मनोज कुमार
भूतपर्व सैनिक

 
हमारी सेना की ओर से लिया गया निर्णय समयानुकूल है। इस समय हमारा देश अपने सेनिकों की शहादत के कारण अत्यधिक दुखी हैं। कायरता पूर्ण किए गए आतंकवादियों द्वारा हमारे सैनिकों पर हमला था। आज की प्रतिक्रिया से पूरा देश खुश है। 
अनुमोदित मिश्र
अण्डर ऑफिसर एनसीसी शिया कॉलेज

 
आज हमारी सेना की ओर से किया गया आक्रमण अति उचित था। ऐसा करने से पड़ोसी पाकिस्तान सदैव के लिए निस्तेनाबूत होगा। शहीदों की तेरहवीं पर देश की सच्ची श्रद्धांजलि अमर सपूतों के लिए है।
रामदयाल मौर्य, प्रबंधक
बाल विद्या मंदिर इंटर कॉलेज गोमतीनगर

 
‘अगर जिंदा कहीं भी हैं तो दिखाना जरूरी है। असूलों पे जो आंच आए तो टकराना जरूरी है।’ पुलवामा हमले के शहीद वीर सैनिकों की तेरहवीं के समय हमारी बहदुर वायुसेना ने 1971 के बाद की बहुत ही सीमित कार्रवाई करके पूरे देश की तरफ से शहीदों को श्रद्धांजलि दी है।
ऋषि कुमार दीक्षित, सूबेदार मेज
कोआर्डीनेटर उत्तर प्रदेश गौरव सेनानी कल्याण संस्थान
 
वायुसेना की ओर से जो कार्रवाई पाकिस्तान के खिलाफ की गई है उसपर मैं उनको बधाई देता हूं। अगली भी कार्रवाई होनी चाहिये कि पाकिस्तान दोबारा मुंह न उठा सके। यह शहीद सैनिकों को सच्ची श्रद्धांजलि है।
अजीत कुमार सिंह, अध्यक्ष
हमराह एक्स कैडेट एनसीसी सेवा संस्थान

 
वायुसेना ने शहीद सैनिकों की मौत का बदला लिया वो बहुत ही तारीफ लायक है। सेना का यह निर्णय बहुत ही अच्छा रहा। लोगों की खुशी का ठिकाना नहीं है। प्रधानमंत्री और वायुसेना को पूरा देश बधाई दे रहा है। 
शैलेश कुमार दुबे
सीनियर अण्डर ऑफिसर एनसीसी शिया कॉलेज

 
हमारी सेना ने जो एयर स्ट्राइक करके पाकिस्तान में पल रहे आतंकी तंजीमों के कैम्पों पर एक विधवंसक कार्रवाई करके नष्ट किया ये बहादुर कृत्य पुलवामा के शहीदों के लिए सही और सटीक है।
नायब सूबेदार विजय कांत बाजपेई, महासचिव
गौरव सेनानी कल्याण संस्थान
 

पाकिस्तान के अंदर घुसकर आतंकवादियों के ठिकानों को ध्वस्त किया गया है। हमारा पूरा देश वीर सैनिकों, प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री और इस आक्रमण को करने वालों को बधाई देता है। देश में इस कदम से उत्साह की लहर है। 
एसएन शर्मा, भूतपूर्व सैनिक
सूबेदार मेजर रहे

 
प्रधानमंत्री को बधाई कि उन्होंने इस स्ट्राइक की जरूरत समझी। जरूरत पड़ने पर भूतपूर्व सैनिक भी सीमाओं पर जाने के लिए तैयार हैं इसके लिए हमने पीएमओ को भी पत्र लिखा है। अवैतनिक रूप से हम देश की सेवा कर सकते हैं। 
आरके शुक्ला, पूर्व सैनिक
संरक्षक गौरव सेनानी संस्थान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *